ITI शाहपुर में कैंपस इंटरव्यू 31 अक्टूबर | कंपनी भरेगी 200 पद

किसी बड़ी कंपनी में अपना भविष्य संवारने वाली युवतियों के लिए नौकरी का सुनहरा मौका है। आईटीआई शाहपुर में एक निजी कंपनी 200 महिला कामगारों का चयन करेगी और इसमें आईटीआई होल्डरज और इस वर्ष नवंबर माह में अपने अंतिम वर्ष में अपीयर होने वाली छात्राएं भी इस कैंपस साक्षात्कार में भाग ले सकेंगी। 31 अक्तूबर को सुबह 9 बजे संस्थान के बहुउद्देशीय भवन में कैंपस साक्षात्कार का आयोजन किया जाएगा। इस दौरान ऐमीनैंस मेन पावर सालूशन्ज़ प्राइवेट लिमिटेड गुड़गांव के अधिकारी नीमराना स्थित जापानी कंपनी टाकाहाटा प्रिशीजन इंडिया प्राइवेट लिमिटेड के लिए लगभग 200 पद भरेगी।

यह कंपनी चयनितों को अच्छे वेतन के साथ ही कई प्रकार की सुविधाएं प्रदान करेगी। कैंपस साक्षात्कार में 18 से 24 वर्ष तक की वे युवतियां भाग ले सकती हैं जिनकी ऊंचाई 5 फ़ुट 2 इंच से अधिक हो और जिन्होंने दसवीं या प्लस टू के बाद कोपा, ICTSM, ड्राफ्ट्समैन (मैकेनिकल), ड्राफ्ट्समैन (सिविल), सर्वेयर, एसएसए (इंग्लिश), एसएसए (हिंदी), फिटर, इलेक्ट्रीशियन, पीपीओ, मैकेनिक इलेक्ट्रॉनिक्स और मकैनिक मोटर व्हीकल आदि व्यवसायों में एक या दो वर्षीय आईटीआई कोर्स कर रखा हो या फिर कर रही हों ।




औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान शाहपुर के ट्रेनिंग एंड प्लेसमेंट ऑफिसर अभिषेक बगवान ने बताया कि चयनित होने पर इन युवतियों को 6 माह से एक साल तक ट्रेनिंग दी जाएगी। जिसकी एवज में इन्हें 12 हजार रुपये सीटीसी सैलेरी दी जाएगी। एक साल के बाद इनकी कार्यप्रणाली, अटेंडेंस और परफॉर्मेंस के आधार पर इन्हें रेगुलर होने पर 5 से 15 परसेंट इंक्रीमेंट मिलेगी। इसके अलावा रहने के लिए कंपनी फ्री हॉस्टल एवं सिक्योरिटी की सुविधा दे रही है। साथ ही हॉस्टल से कंपनी तक फ्री ट्रांसपोर्ट सुविधा भी इन युवतियों को मिलेगी। इसके अलावा ड्यूटी समय में एक टाइम का सब्सेडाइज्ड फूड, पीएफ, ईएसआईसी और मेडिकल सुविधा भी कंपनी की तरफ से मिलेगी।

ईएमएस प्रा. लि. की एचआर विभाग की अधिकारी पूनम यादव ने फोन पर बताया कि उक्त कंपनी मारुति और होंडा जैसी प्रतिष्ठित कंपनियों के लिए ऑटोमोबाइल पार्ट्स तैयार करती है। इस समय इस कंपनी में लगभग 28 राज्यों की लड़कियां काम कर रही हैं। औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान शाहपुर के प्रधानाचार्य ईं. तरुण कुमार ने बताया कि इस कैंपस साक्षात्कार में प्रदेश भर से ऊपर बताए गए व्यवसायों की प्रशिक्षित और अपने अंतिम वर्ष में प्रशिक्षणरत युवतियां अपना भाग्य आजमा सकती हैं। इस प्रतिष्ठित कंपनी में आईटीआई की युवतियों के चयनित होने से न केवल उनकी तकनीकी दक्षता को बढ़ाया जाएगा, बल्कि यह महिला सशक्तिकरण की ओर भी एक कदम होगा और साथ ही उन्हें अपने पैरों पर खड़ा होने के का़बिल बनाएगा।


Updated: October 31, 2020 — 6:25 am