HP News Preparing to promote college students to the next class without taking the exam

HP News Preparing to promote college students to the next class without taking the exam

HP News Preparing to promote college students to the next class without taking the exam

Preparations have been started to promote first and second-year students studying in degree colleges of the state to the next class. It is planned to prepare the result based on 50 percent marks in the old class, 30 percent of the internal assessment of the current class, and 20 percent of the teacher assessment. The education department will take this formula with the final approval in the cabinet meeting.

At present, first-second year students have been admitted to the next classes on a provisional basis. Final semester examinations have been completed. Nowadays PG examinations are going on. In such a situation, now the state government is not entitled to take the examinations of first and second-year students. The Directorate of Education has prepared a proposal to promote first and second-year students in the upcoming classes without taking examinations.

First to eighth students took the math test

In the state government schools, students of first to eighth grade took the math test on Saturday. The Directorate of Elementary Education is currently taking examinations for first term assessment of these classes. The examinations will be held till October 10. Answer books will be evaluated by October 17.

As part of the online examination, students are being sent questions through WhatsApp. Students who are not connected to online studies. They are being provided question papers by teachers at their homes. About 4.20 lakh students are taking examinations through WhatsApp. A total of 4.93 lakh students are appearing for the examinations.

ऑनलाइन परीक्षा के तहत विद्यार्थियों को व्हाट्सएप के माध्यम से प्रश्नपत्र भेजे जा रहे हैं। जो विद्यार्थी ऑनलाइन पढ़ाई से नहीं जुड़े हैं। उन्हें शिक्षकों द्वारा घरों पर जाकर प्रश्नपत्र उपलब्ध करवाए जा रहे हैं। करीब 4.20 लाख विद्यार्थियों की व्हाट्सएप के माध्यम से परीक्षाएं ली जा रही हैं। कुल 4.93 लाख विद्यार्थी परीक्षाएं दे रहे हैं।

प्रदेश के सरकारी स्कूलों में शनिवार को पहली से आठवीं कक्षा के विद्यार्थियों ने गणित की परीक्षा दी। प्रारंभिक शिक्षा निदेशालय आजकल इन कक्षाओं की फर्स्ट टर्म असेसमेंट के लिए परीक्षाएं ले रहा है। दस अक्तूबर तक परीक्षाएं चलेंगी। 17 अक्तूबर तक उत्तर पुस्तिकाओं का मूल्यांकन होगा।

अभी प्रोविजनल आधार पर फर्स्ट-सेकेंड ईयर स्टूडेंट्स को अगली कक्षाओं में प्रवेश दिया गया है। फाइनल सेमेस्टर की परीक्षाएं पूरी हो चुकी हैं। आजकल पीजी की परीक्षाएं चल रही हैं। ऐसे में अब प्रदेश सरकार फर्स्ट और सेकेंड ईयर के विद्यार्थियों की परीक्षाएं लेने के हक में नहीं है। शिक्षा निदेशालय ने फर्स्ट और सेकेंड ईयर के विद्यार्थियों को बिना परीक्षाएं लिए आगामी कक्षाओं में प्रमोट करने का प्रस्ताव तैयार कर लिया है।

प्रदेश के डिग्री कॉलेजों में पढ़ने वाले फर्स्ट और सेकेंड ईयर के विद्यार्थियों को अगली कक्षा में प्रमोट करने की तैयारी शुरू हो गई है। पुरानी कक्षा के 50 फीसदी अंकों, वर्तमान कक्षा की इंटरनल असेसमेंट के 30 फीसदी और शिक्षक असेसमेंट के 20 फीसदी अंकों के आधार पर परिणाम तैयार करने की योजना बनाई गई है। शिक्षा विभाग अपने इस फार्मूले को कैबिनेट की बैठक में अंतिम मंजूरी को लेकर जाएगा।

follow me on social media
Share this

Author: admin