कोरोना से छह और मौतें, 288 नए मरीज, रोजाना पांच हजार सैंपलों की हो रही जांच

हिमाचल में कोरोना से छह और लोगों की मौत हो गई, जबकि 288 नए मरीज सामने आए हैं। बुधवार को सोलन जिले से 3, कांगड़ा-सिरमौर-ऊना से 1-1 मरीज की मौत हुई है। आईजीएमसी में पांवटा साहिब से इलाज के लिए आए करोना वायरस पीड़ित मरीज ने दम तोड़ दिया। मरीज को निमोनिया और सांस लेने में तकलीफ के चलते आईजीएमसी रेफर किया था। आईजीएमसी में ही एक सोलन के मरीज की भी मौत हो गई। इसके अलावा सोलन में 2 और लोगों की मौत हो गई। इनमें एक गर्भवती महिला की परवाणू में मौत हुई जो बिहार की रहने वाली थी। इसके अलावा नालागढ़ में एक 45 वर्षीय मरीज की मौत हो गई।

सीएम जयराम ने ये कहा
मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने बताया कि हिमाचल में रोजाना पांच हजार से ज्यादा कोरोना सैंपलों की जांच की जा रही है। प्रदेश में वेंटिलेटरों की संख्या 640 हो गई है। सरकार के पास 1.60 लाख पीपीई किट और तीन लाख एन-95 मास्क उपलब्ध हैं। डेडिकेटिड कोविड अस्पतालों में आक्सीजन सप्लाई की व्यवस्था कर दी गई है। मुख्यमंत्री ने बताया कि प्रदेश में अभी तक 4.53 लाख लोगों को बाहरी राज्यों से हिमाचल में लाया गया है।

उधर, ऊना जिले में एक दैनिक समाचार पत्र में कार्यरत 30 वर्षीय मीडिया कर्मी की मौत के बाद रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई है। बहडाला के युवक को बुखार था और शुगर की समस्या भी थी। बुधवार सुबह युवक की तबीयत खराब होने पर परिजन उसे क्षेत्रीय अस्पताल ऊना ले आए। नाजुक हालत को देखते हुए डॉक्टरों ने उसे पीजीआई चंडीगढ़ रेफर कर दिया। युवक को चंडीगढ़ ले जाने की तैयारी की जा रही थी, लेकिन इसी बीच उसने दम तोड़ दिया। मौत के बाद युवक का कोरोना टेस्ट के लिए सैंपल लिया, जिसे क्षेत्रीय अस्पताल में ही ट्रूनेट मशीन में जांचा गया, जो पॉजिटिव आया। अब कंफर्म रिपोर्ट के लिए टेस्ट आरटीपीसीआर लैब को भेजा जा रहा है। इसके अलावा कांगड़ा के धीरा की महिला की मौत हो गई।  प्रदेश में अब तक कोरोना से 68 लोगों की जान जा चुकी है। जिला मुख्यालय ऊना में कार्यरत पांच मीडिया कर्मी भी कोराना पॉजिटिव हैं।

हमीरपुर के बिझड़ी में आयुर्वेदिक अस्पताल का चिकित्सक पॉजिटिव पाया गया है। कोरोना संक्रमित महिला के संपर्क में आने के बाद डॉक्टर का सैंपल लिया गया था। विधानसभा डयूटी में तैनात सीआईडी का कर्मी कोरोना पॉजिटिव पाया गया है। यह कालीबाड़ी स्थित धर्मशाला में ठहरा हुआ था। संक्रमित को कोविड सेंटर शिफ्ट कर दिया गया है। गुरुवार से मंदिर खुलना था जिसे लेकर अब संशय बन गया है। यहां कुल लोग 36 लोग थे जिनमें 32 पुलिस कर्मचारी थे। वहीं, एनआईटी का सहायक प्रोफेसर की कोरोना की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। प्रोफेसर की संस्थान में गिरने के बाद पीजीआई में उपचार के दौरान मौत हुई थी।

 

follow me on social media
Share this

Author: admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.