Top Hindi Current Affairs: 04 September 2020

Top Hindi Current Affairs: 04 September 2020

ग्लोबल इनोवेशन इंडेक्स में भारत 48वें स्थान पर

मध्य और दक्षिण एशिया में भारत इनोवेशन के मामले में पहले स्थान पर है. विश्व बौद्धिक संपदा संगठन (WIPO) हर साल ग्लोबल इनोवेशन इंडेक्स रैंकिंग जारी करता है. इनोवेशन इंडेक्स में स्विट्जरलैंड ने अपनी टॉप रैंकिंग बरकरार रखी है. नवोन्मेष (इनोवेशन) के मामले में देश की स्थिति पिछले कुछ साल से लगातार बेहतर हो रही है.

रिपोर्ट के अनुसार, भारत ने जीआईआई के सभी संकेतकों में अपनी स्थिति सुधारी है. सूची के अनुसार आइसीटी (सूचना एवं संचार प्रौद्योगिकी), सेवाओं के निर्यात, सरकारी ऑनलाइन सेवाओं और विज्ञान एवं इंजीनियरिंग में स्नातकों जैसे नवाचार के सूचकांक में भारत शीर्ष 15 देशों में शामिल है.

असम विधानसभा ने राज्य के धरोहर स्थलों की सुरक्षा के लिए विधेयक पारित किया

इस विधेयक के पारित होने के बाद, राज्य के मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल ने असम समझौते के खंड 6 को लागू करने की दिशा में इसे एक ’ऐतिहासिक’ कदम बताया है. असम राज्य सांस्कृतिक मामलों (पुरातत्व) के मंत्री केशब महंत के मार्गदर्शन में पुरातत्व निदेशालय द्वारा इस बिल का मसौदा तैयार किया गया है

इस समझौते के अनुरूप, हाल ही में पारित यह विधेयक राज्य की मूर्त विरासत की रक्षा, संरक्षण और जीर्णोद्धार करेगा. इसमें विभिन्न संग्रहालय वस्तुओं जैसे सिक्के, मूर्तियां, पांडुलिपियां, एपिग्राफ या कला और शिल्प कौशल के अन्य कार्य और स्वदेशी लोगों की सभी सांस्कृतिक कलाकृतियों को शामिल किया गया है.

भारत और रूस ने फाइनल की AK-203 की डील, अब भारत में इसे तैयार किया जा सकेगा

एके-203 राइफल, एके-47 राइफल का नवीनतम और सर्वाधिक उन्नत प्रारूप है. यह अब इंडियन स्मॉल आर्म्स सिस्टम (इंसास) असॉल्ट राइफल की जगह लेगा. इस सौदे पर एससीओ (शंघाई कॉर्पोरेशन ऑर्गनाइजेशन) समिट के दौरान सहमति बनी. रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह इस समिट में हिस्सा लेने के रूस में ही मौजूद हैं.

एके-203 राइफल को ऑटोमेटिक और सेमी ऑटोमेटिक दोनों ही मोड पर इस्‍तेमाल किया जा सकता है. इसकी मारक क्षमता 400 मीटर है. सुरक्षाबलों को दी जाने वाली इस राइफल को पूरी तरह से लोड किए जाने के बाद कुल वजन 4 किलोग्राम के आसपास होगा. उत्तर प्रदेश में कोरवा आयुध फैक्टरी में 7.62 गुणा 39 मिमी के इस रूसी हथियार का उत्पादन किया जाएगा.

रूस सरकार का बड़ा फैसला, पाकिस्तान को ‘नो आर्म्स सप्लाई’ नीति पर कायम

रूस ने एक बार फिर से यह दोहराया है कि वो पाकिस्तान को हथियारों की आपूर्ति नहीं करेगा. रूस ने यह आश्‍वासन रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के साथ 03 सितम्बर 2020 को बैठक के दौरान दिया. राजनाथ सिंह के साथ बैठक में रूस के रक्षामंत्री जनरल सर्गेई शोइगू ने कहा कि पाकिस्तान को हथियारों की आपूर्ति पर रूसी प्रतिबद्धता भारतीय अनुरोध का पालन करती है.

रूस भारत को सबसे ज्‍यादा हथियारों की आपूर्ति करने वाला देश है. इसमें परमाणु ऊर्जा से चलने वाली सबमरीन शामिल है. रूस ने यह भी कहा है कि वह भारत की व्‍यापक स्‍तर पर सुरक्षा हितों में मदद करेगा. रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और रूस के रक्षा मंत्री जनरल सर्गेई शोइगू के बीच बैठक में मास्‍को ने यह आश्‍वासन दिया.

follow me on social media
Share this

Author: admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.